पब्लिक प्रवक्ता


अमरकंटक में गुरु पूजन और नर्मदा दर्शन हेतु भक्तो की उमड़ी भारी भीड़ ।


 श्रवण उपाध्याय 


अमरकंटक  :-  मां नर्मदा जी की उद्गम स्थली / पवित्र नगरी  अमरकंटक में अनेक पर्यटक स्थल और अनेक संतो की कुटिया , आश्रम है । अनेक आश्रमों में आज गुरु पूर्णिमा को लेकर भक्तो की भारी भीड़ उमडी । गुरु पूजा बड़ी ही श्रद्धा , भक्ति और उल्लास के साथ शिष्यों और भक्तो द्वारा प्रातः काल से ही गुरु पूजन प्रारंभ हो गया था । जन्हा ज्यादा भक्तो की संख्या रही वंहा पर सुबह से दोपहर तक गुरु पूजन कार्य चलता रहा । 


अमरकंटक मां नर्मदा जी की उद्गम स्थली में अनेक जगहों से भक्त , श्रद्धालुजन पहुंच नर्मदा नदी , कुंड में स्नान कर नर्मदा मंदिर दर्शन , पूजन किए । अमरकंटक के अनेक पर्यटक स्थलों का दर्शन कर टूरिस्ट बड़े ही आनंदित हो रहे । अमरकंटक के अनेक आश्रमों में गुरु पूजन बाद दोपहर में भंडारा का प्रसाद ले रहे । जिनमे कल्याण सेवा आश्रम के संत परम तपस्वी वीतराग बाबा कल्याण दास जी महाराज , शांति कुटी आश्रम के संत महामंडलेश्वर स्वामी रामभूषण दास जी महाराज , परमहंस धारकुंडी आश्रम के संत स्वामी लवलीन महाराज , चक्रतीर्थ के संत सीताराम जु महाराज , मारकंडे आश्रम के आचार्य श्री रामकृष्णानंद जी महाराज , बर्फानी आश्रम के संत महामंडलेश्वर लक्ष्मण दास जी महाराज आदि संतो के यहां भक्तो की भारी भीड़ रही । इसके अलावा अनेक आश्रमों में भी शिष्य पहुंच गुरुपूजन किए । अमरकंटक में भक्त , श्रद्धालु , पर्यटक भारी संख्या में गुरु पूर्णिमा के अवसर पर पहुंचे । जवाहर नवोदय विद्यालय के सभी बच्चो का भी शांति कुटी में भंडारे का प्रसाद हेतु पहुंचते है । कल्याण आश्रम द्वारा क्षेत्र के निर्धन लोगो को वस्त्र , भोजन वितरण किया जाता है । जिले के एस पी प्रातः अमरकंटक पहुंच और संतो से भेंट , मुलाकात कर नमन किया । इंदिरा गांधी जनजातीय राष्ट्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय के कुलपति सपत्नीक अमरकंटक पहुंच मां नर्मदा और कई संतो के आश्रम पहुंच संत दर्शन किए । इस मौके पर शासन प्रशासन भी चाक चौबंद नजर बनाए हुए है । अमरकंटक में जिले के एस पी , पुष्पराजगढ़ एसडीएम , तहसीलदार , अमरकंटक पटवारी , थाना प्रभारी सहित अमरकंटक प्राधिकरण के कर्मचारी सभी नजर बनाए हुए है ।


पुष्पराजगढ़ सरपंच संघ अपनी 19 सूत्रीय मांगों को लेकर भोपाल रवाना


(पुष्पेन्द्र रजक की रिपोर्ट)


पुष्पराजगढ़ :- सरपंच संघ का जत्था पूर्व विधायक सुदामा सिंह एवं पंचायत इस्पेक्टर जागृति सिंह की उपस्थिति में  अपनी 19 सूत्रीय मांगों को लेकर आज भोपाल रवाना हो गया 23 जुलाई को राजधानी भोपाल में सीएम हाउस के सामने धरना देगा। इसके लिए प्रदेशभर से सरपंच सुबह से राजधानी भोपाल में जुटना शुरु हो जाएंगे। सरपंच संघ अपनी 19 सूत्रीय मांग को लेकर सीएम हाउस  के सामने सुबह 10 बजे से धरना करेंगे।


सरपंचों का मानदेय 15 हजार रुपये तक हो


सरपंच संघ की मुख्य मांग है की सरपंचों का मानदेय 15 हजार रुपये तक किया जाए। दरअसल अभी सरपंचों को 4250 रुपये मानदेय मिल रहा है।संघ का कहना है की ये मानदेय बढ़ती म​हंगाई के दौर में न के बराबर है। इसलिये इसे बढ़ाया ही जाना चाहिए। बता दें कि सरपंचों का मानदेय एक साल पहले ही बढ़ा है।


*सरपंच संघ करेगा सी एम का घेराव: मंत्री का इस्तीफा 15 हजार मानदेय मनरेगा के आदेश को लेकर सड़क पर उतरेगा संघ*


23 जुलाई को सरपंच संघ का प्रदर्शन


भोपाल में सीएम हाउस के सामने धरना 19 सूत्रीय मांगों को लेकर है आंदोलन सरपंच संघ अपनी 19 सूत्रीय मांगों को लेकर 23 जुलाई को राजधानी भोपाल में सीएम हाउस के सामने धरना देगा। इसके लिए प्रदेशभर से सरपंच सुबह से राजधानी भोपाल में एकत्रित होंगे।


मांग में इस मंत्री का इस्तीफा भी शामिल


सरपंच संघ की 19 सूत्रीय मांगों में मोहन सरकार के एक मंत्री का इस्तीफा भी शामिल है। राष्ट्रीय सरपंच संघ मध्यप्रदेश ने कौशल विकास एवं रोजगार राज्य मंत्री गौतम टेटवाल का इस्तीफा मांगा है। दरअसल 2 जुलाई को गौतम टेटवाल ने बयान दिया था कि गांव में यदि गौ माता घूमते पाई गई या उन्हें कुछ नुकसान पहुंचता है तो उस पंचायत के सरपंच, जनपद सदस्य,पंचायत सहायक, पंचायत सचिव सब जिम्मेदार होंगे। गाय को कोई नुकसान पहुंचा तो सरपंचों को धारा 151 में जेल भेज देंगे। सरपंच राज्यमंत्री के इसी बयान से खफा हैं। उन्होंने अपने मांग पत्र में टेटवाल का इस्तीफा भी मांगा है।


मनरेगा का नया आदेश निरस्त करने की मांग


1 जुलाई 2024 को मनरेगा का नया आदेश जारी किया गया। सरपंच संघ इसे निरस्त करवाने की मांग कर रहा है। दरअसल इस आदेश के लागू होने के बाद बनने वाले वित्तीय प्रबंधन से सरपंच संघ नाखुश है। मनरेगा के तहत केंद्र से मिलने वाली राशि मजदूरी और मटेरियल के लिये खर्च होती थी।नये आदेश के मुताबिक अब मटेरियल के लिए मनरेगा से खर्च न कर पंचायतों को अन्य मदों में मिलने वाली राशि से खर्च किया जाए। सरपंच संघ का मानना है इससे गांव में विकास करने में व्यवहारिक दिक्कतें आएंगी। इसलिए 1 जुलाई को जारी मनरेगा का आदेश निरस्त किया जाए।


सरपंच संघ की ये भी प्रमुख मांगे


1. सचिव और रोजगार सहायकों की सीआर लिखने का सरपंचों को अधिकार मिले।

2. पंचायत के खिलाफ सीएम हेल्पलाइन पर झूठी शिकायत करने वालों पर FIR दर्ज हो।

 3. पंच-सरपंच का बीमा किया जाए, न्यूनतम 2 हजार रुपये पेंशन का प्रावधान हो।

4. मनरेगा के कार्यों में धारा 40 के तहत सरपंचों को नोटिस नहीं दिया जाए।

5. सरपंच निधि का गठन कर हर पंचायत को इसमें एक लाख रुपये दिये जाए।


प्रदेशव्यापी आंदोलन भी चुनौती


राजधानी भोपाल में 23 जुलाई को होने वाला आंदोलन वैसे तो प्रदेशव्यापी है, लेकिन इसे लेकर चुनौतियां भी कम नहीं है।

राजनीतिक पार्टियों की तरह ही विचारधारा के हिसाब से प्रदेश में भी सरपंचों के अलग-अलग गुट है और उसी हिसाब से दो सरपंच संघ एक्टिव हैं।इसलिए कुछ जिलों और जनपदों ने इस आंदोलन का समर्थन किया है तो कुछ ने इससे दूरी बनाने का निर्णय लिया है। अब देखना ये होगा कि 23 जुलाई को अपने अधिकार के लिए आंदोलन कर रहे सरपंचों का यह प्रयास कितना सफल हो पाता है।


मेडिकल कॉलेज की प्रशिक्षु महिला चिकित्सक सड़क हादसे में गम्भीर रूप से घायल


अनूपपुर  :- शहर की कुमारी सृष्टि सोनी पिता रामगोपाल सोनी बिरसा मुण्डा चिकित्सा महाविद्यालय मे एक प्रशिक्षु चिकित्सक के रूप में अपनी सेवाएं दे रही है जहाँ सोमवार दोपहर को शहडोल में एक बड़े सडक हादसे का शिकार हो गई।वह स्कूटी समेत ट्रक के पहिए मे फंसने के बाद लगभग चालीस मीटर तक घसिटती चली गई ।घटना के बाद चिकित्सक को गंभीर हालत मे मेडिकल कॉलेज मे भर्ती कराया गया है।जहाँ गहन चिकित्सा यूनिट मे उनका इलाज चल रहा है। 

                       इस संबंध मे मिली जानकारी के अनुसार मेडिकल कॉलेज मे प्रशिक्षु चिकित्सक के रूप मे पदस्थ सृष्टि सोनी सोमवार को ड्यूटी करने के बाद दोपहर लगभग 2 बजे अपनी स्कूटी क्रमांक एमपी 65 जेडए 2318 से घर जा रहीं थी।जैसे ही वह मेडिकल कॉलेज चौराहा से हाइवे मे पहुंची तभी बुढ़ार की ओर से तेज रफ़्तार आ रहे ट्रक क्रमांक टीएन 46 एस 6369 की चपेट मे आ गई।जिसके बाद वह स्कूटी समेत ट्रक के पहिये मे फंस गई और करीब 40 मीटर तक घसिटने के बाद सडक मे दूर फेंका गई।जबकि स्कूटी अब भी ट्रक के पहिए मे फंसी हुईं थी।वहाँ आसपास मौजूद लोगो द्वारा ट्रक चालक को इशारा करते हुए वाहन रोकने को कहा। लेकिन उसने ट्रक नही रोका।लगभग आधा किलोमीटर तक स्कूटी को वह घसीटता हुआ आगे ले गया।ज़ब पुलिस के डायल 100 ने ट्रक का पीछाकर उसे रुकवाया तब जाकर ट्रक के पहिए थमे।

     थाना प्रभारी सोहागपुर भूपेंद्र मणि पांडे ने बताया कि ट्रक चालक को हिरासत में लिया है,पूछताछ की जा रही है ट्रक को थाने में लाकर खड़ा कराया है।मेडिकल कॉलेज अधीक्षक डॉक्टर नगेंद्र सिंह ने बताया कि इंटर्नशिप कर रही डॉक्टर सृष्टि सोनी को सड़क हादसे में गंभीर चोट पहुंची है,उनके सर में गंभीर चोट है,मुझे जब जानकारी लगी तो मैं खुद जाकर उन्हें देखा हूं,डॉक्टर की टीम उनका इलाज कर रही है।

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget